top of page
Search
  • Writer's pictureTritech

पेट्रोल का खर्च खत्म करने आया ये नया फ्यूल, जल्द सभी वाहनों में लगेंगे अलग किस्म के इंजन

पेट्रोल की आयात को कम करने के लिए सरकार भरसक प्रयास कर रही है और इसके लिए अब पेट्रोल के विकल्प ढूंढे जा चुके हैं. जहां इलेक्ट्रिक वाहनों का माहौल पूरी दुनिया पर छाया हुआ है, वहीं भारत में इथेनॉल भी एक दमदार विकल्प के रूप में सामने आया है. इसी बात को लेकर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं हाइवे मंत्री, नितिन गडकरी ने कहा है कि जल्द ही सभी वाहनों को इथेनॉल से चलने लायक बनाया जाएगा और आने वाले समय में इथेनॉल पंप्स की संख्या में भी बढ़ोतरी होगी. एक इवेंट में गडकरी ने आगे बताया कि जहां बायो-इथेनॉल पेट्रोल से काफी सस्ता है, पब्लिक बड़ी बचत करने के साथ पर्यावरण को भी नुकसान से बचा सकेगी.


इथेनॉल के प्रोडक्शन को बढ़ाने की बात पर जोर दिया

नितिन गडकरी ने आगे कहा कि ऑटो रिक्शा से लेकर सभी महंगी लग्जरी कारों तक जल्द इथेनॉल से चल सकेंगी. केंद्रीय मंत्री ने एक बार फिर भारत में इथेनॉल के प्रोडक्शन को बढ़ाने की बात पर जोर दिया है और किसानों को सामान्य खेती की जगह इसके उत्पादन में काम आने वाली फसल उगाने को कहा है ताकि इसकी सप्लाई को बढ़ाया जा सके. उन्होंने सभी वाहनों को जल्द ही फ्लैक्स फ्यूल इंजन के साथ लाने की बात पर जोर दिया और कहा कि इस रास्ते 8 लाख करोड़ रुपये के ईंधन आयात को घटाया जा सकता है. इस आयात को घटाने की लिए उन्होंने इथेनॉल की जरूरत को भी समझाने की कोशिश की है.


वाहनों के साथ फ्लैक्स फ्यूल इंजन देने की सलाह -

पिछले हफ्ते ही नितिन गडकरी ने वाहन निर्माताओं को अगले 6 महीने में फ्लैक्स-फ्यूल इंजन वाले वाहन लाने की एडवाइजरी जारी की है. गडकरी ने एक फाइल पर हस्ताक्षर किए हैं जिसमें वाहनों निर्माताओं को अपने वाहनों के साथ फ्लैक्स फ्यूल इंजन देने की सलाह दी गई है. उन्होंने आगे कहा कि केंद्र सरकार इलेक्ट्रिक और वैकल्पिक ईंधनों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने का काम कर रही है. टीवीएस मोटर्स और बजाज ऑटो जैसी कंपनियों ने पहले ही फ्लैक्स फ्यूल इंजन बनाने का काम शुरू कर दिया है. बता दें कि फ्लैक्स फ्यूल या फ्लैक्सिबल फ्यूल एक विकल्प है जिसमें पेट्रोल के साथ मिथेनॉल और इथेनॉल को मिलाया जाता है. फ्लैक्स फ्यूल सामान्य के मुकाबले कम प्रदूषण पैदा करते हैं और ये इंजन पेट्रोल और बायोफ्यूल दोनों पर चलते हैं.



Comments


bottom of page